पृष्ठ

रविवार, 25 अप्रैल 2010

जो बार- बार माफ़ करे वह हिंदुस्तान



जो एक बार भूल करे उसे इन्शान कहते है,

जो दो बार भूल करे उसे नादान कहते है।

जो चार-पाच बार भूल करे उसे सैतान कहते है ,

और जो बार-बार भूल करे उसे पाकिस्तान कहते है ,

और जो हर बार माफ़ करे उसे हिन्दुस्तान कहते है।।

 भारत माता की जय----------------!

5 टिप्‍पणियां:

JHAROKHA ने कहा…

bahut khoob likha hai aapne.
poonam

हरकीरत ' हीर' ने कहा…

वाह...वा.... बार बार वाला तो मजेदार है .....!!

sangeeta swarup ने कहा…

और जो बार-बार भूल करे उसे पाकिस्तान कहते है ,

और जो हर बार माफ़ करे उसे हिन्दुस्तान कहते है।।

बहुत सही बात कही है...

राजीव कुमार कुलश्रेष्ठ ने कहा…

आप के ब्लाग पर पहली बार आया हूं आपके भाव
भी काफ़ी अच्छे लगे..भाव रचना उत्तम है..इससे
भी ज्यादा मैं आकर्षित हुआ आपके पुस्तकों के
चयन सत्यार्थ प्रकाश उपनिषद...आदि..लेकिन
क्या आप इन पुस्तकों का वास्तविक संदेश समझ
पाये..क्या आप ढाई अक्षर के उस महामन्त्र को
जानते है जिसके बारे में वेद पुराण नेति नेति
कहते है और जो अन्दर जाते ही ग्यान का प्रकाश
कर देता है ...?
satguru-satykikhoj.blogspot.com

राजीव कुमार कुलश्रेष्ठ ने कहा…

आप के ब्लाग पर पहली बार आया हूं आपके भाव
भी काफ़ी अच्छे लगे..भाव रचना उत्तम है..इससे
भी ज्यादा मैं आकर्षित हुआ आपके पुस्तकों के
चयन सत्यार्थ प्रकाश उपनिषद...आदि..लेकिन
क्या आप इन पुस्तकों का वास्तविक संदेश समझ
पाये..क्या आप ढाई अक्षर के उस महामन्त्र को
जानते है जिसके बारे में वेद पुराण नेति नेति
कहते है और जो अन्दर जाते ही ग्यान का प्रकाश
कर देता है ...?
satguru-satykikhoj.blogspot.com